35.1 C
New Delhi
June 22, 2021
kaalasach
Breaking News
मनोरंजन राजनीति रोजगार लाइव

जूते चप्पल की माला पहनकर यह कैसा विरोध प्रदर्शन, देखिये वीडियो…..

देश में हो रहे ऐसे घिनौने अपराध, जिसको लेकर एक व्यक्ति बीते कई सालों से अपने गले में जूते चप्पल की माला डाले कर रहा विरोध प्रदर्शन

इस वक़्त हाथरस प्रकरण को लेकर पूरे देश में सियासत गरमाई हुई है और जगह-जगह विरोध प्रदर्शन हो रहे हैं। वहीं उधम सिंह नगर में इस प्रकरण को लेकर एक अनोखा ही प्रदर्शन देखने को मिला, जहां एक युवक ने अपने गले में जूते-चप्पल की माला डालकर एक घण्टे तक प्रदर्शन कर विरोध प्रकट किया और सभी राजनैतिक पार्टियों के ऊपर केवल अपनी राजनीति चमकाने के लिये एक-दूसरे पर आरोप प्रत्यारोप मढ़ने का आरोप लगाया। वहीं सभी पार्टियों के नेताओं और न्याय पालिका के जजों से एकजुट होकर ऐसे अपराधों पर तुरंत अंकुश लगाने की बात कही।

कर्मयोग एवं सहयोग साधना समिति के अध्यक्ष ने किया जूते चप्पल की माला पहन विरोध प्रदर्शन

आपको बता दें कि पूर्व में हुए निर्भया कांड जैसे अनेकों मामलों के बाद अब हाथरस प्रकरण ने पूरे देश को हिलाकर रख दिया है। जिसके चलते सियासतदार लोग सियासत चमकाने में अपनी पूरी ताकत झोंके हुए हैं और पूरे देश में ऐसे लोग पब्लिसिटी पाने के लिये विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं। लेकिन उधम सिंह नगर की बाज़पुर तहसील में इस प्रकरण पर राजनीति से उलट एक अनोखा ही प्रदर्शन देखने को मिला, जहां कर्मयोग एवं सहयोग साधना समिति के अध्यक्ष ओमप्रकाश वर्मा ने परिजनों तथा स्थानीय लोगों के साथ इस प्रकरण को लेकर अपने गले में जूते-चप्पल की माला डालकर लगभग एक घण्टे तक भगत सिंह चौक पर विरोध प्रदर्शन किया। हालांकि बता दें कि श्री वर्मा पूरे देश में हो रही बलात्कार जैसी घिनौनी घटनाओं से आहत होकर अपने गले में जूते-चप्पलों की माला पहनकर परिवार सहित बीते काफी समय से प्रदर्शन करते चले आ रहे हैं।

देश के नेता केवल राजनीति न करें, न्याय पालिका जजों के साथ मिलकर ऐसे मामलों में तुरंत कार्यवाही करें- ओमप्रकाश वर्मा

इस दौरान ओमप्रकाश वर्मा ने हाथरस प्रकरण को लेकर कहा कि पीड़ित परिवार के घर जाकर जिस तरह लोग घटिया राजनीति कर रहें हैं उससे न्याय और कानून व्यवस्था पूरी तरह ध्वस्त होती दिख रही है। एक तरफ राजस्थान में वीजेपी वाले, तो वहीं दूसरी ओर उत्तर प्रदेश में कांग्रेस वाले धरना प्रदर्शन करने में मस्त हैं जो ऐसे मामलों में केवल एक-दूसरे पर आरोप प्रत्यारोप ही मढ़ते नजर आ रहें हैं लेकिन करता कोई कुछ नही। वहीं उन्होंने कहा कि ऐसे घिनौने तथा गम्भीर मामलों में देश के नेता केवल राजनीति न करें और न्याय पालिका के जजों के साथ मिलकर तुरंत ऐसे मामलों में कड़ी कार्यवाही करें, जिसके बाद ही ऐसे घिनौने अपराधों पर अंकुश लग सकेगा।

Related posts

देखिये…..सितारगंज में पुलिस ने क्यों निकाली बाइक रैली! मार्च भी किया!

kaalasach

कोटाबाग महोत्सव!…..दूसरे दिन हुए अनेक सांस्कृतिक कार्यक्रम! हुई डांस प्रतियोगिता!

kaalasach

देखिये…..धारचूला के मिलन केंद्र में प्रधानों ने लगाया ऑनलाइन निःशुल्क शिविर!

kaalasach

देखिये…..जब किसान आंदोलन में शामिल होने भैंसागाड़ी से पहुंच गई उत्तराखंड कांग्रेस नेत्री!

kaalasach

देखिये…..जब फौजी के परिवार ने की स्मृति द्वार बनाये जाने की मांग, फिर जो हुआ…..!

kaalasach

देखिये…..जब पशु चोरों ने कर डाली बचाव में फायरिंग! फिर क्या हुआ?

kaalasach

Leave a Comment