35.1 C
New Delhi
June 22, 2021
kaalasach
Breaking News
रोजगार लाइव

प्रतिभा किसी की मोहताज नही होती, क्या यह सच है, देखिये रिपोर्ट…..

कोटाबाग/कालाढूंगी: किसी ने बिल्कुल सही कहा है, कि प्रतिभाशाली लोग किसी के मोहताज नही होते, और अपना रास्ता खुद तलाश कर लेते हैं। इसे साबित कर दिखाया है एक ऐसे व्यक्ति ने, जिनकी लॉक डाउन के दौरान नौकरी छिन गई थी, और उनके सामने रोजी-रोटी का संकट पैदा हो गया था। परन्तु उन्होंने हिम्मत नही हारी और आत्मनिर्भर भारत से प्रेरित होकर अपना व्यवसाय शुरू कर लिया। जिससे वो अब अपने परिवार का पेट ही नही पाल रहे, बल्कि, पूरे क्षेत्र में इस कार्य के लिये उनकी बहुत प्रशंसा हो रही है।

जी हाँ, हम बात कर रहे हैं अनुज चंदेल की, जो जनपद नैनीताल के कालाढूंगी क्षेत्र स्थित कोटाबाग के निवासी हैं। जो कुछ माह पूर्व पूरे देश में लगे लॉक डाउन के दौरान नौकरी छिन जाने से बेरोजगार हो गये थे, और उनके परिवार के सामने रोजी-रोटी का संकट पैदा हो गया था। परन्तु, अनुज ने हिम्मत नही हारी और अपना व्यवसाय शुरू करने की सोची। जिसके चलते उन्होंने आत्म निर्भर भारत से प्रेरित होकर पहाड़ों की हसीन वादियों के बीच खुद का छोटा सा रेस्टोरेंट खोल दिया, जिसमें उनके भाईयों ने पूरी मदद की। पहाड़ी क्षेत्र होने और पर्यटकों का यहाँ आना-जाना लगा रहने से उनके रेस्टोरेंट की लोकप्रियता बहुत बढ़ गई। पर्यटकों तथा आसपास के लोगों को अनुज के रेस्टोरेंट में बने खाने का स्वाद भाने लगा, जिससे धीरे-धीरे उनके रेस्टोरेंट का नाम बहुत दूर तक फैमस हो गया और दूर-दूर से लोग खाने का स्वाद चखने यहाँ आने लगे। साथ ही रेस्टोरेंट को लोकप्रियता दिलाने में इसके आसपास के वातावरण ने भी अहम भूमिका निभाई। जहाँ रेस्टोरेंट के चारों ओर पहाड़ियां तथा पास में नदी होने से इसकी लोकप्रियता में चार चांद लग गये। वहीं अनुज के भाई लाखन चन्देल ने रास्ते में पर्यटकों द्वारा फेंकी गई प्लास्टिक की खाली बोतलों का सही इस्तेमाल करते हुए रेस्टोरेंट की बाहरी दीवारों को बहुत ज्यादा मनमोहक बना दिया, जिससे इसकी खूबसूरती देखते ही बनती थी। वहीं आज रेस्टोरेंट का व्यवसाय अच्छा चल जाने से अनुज तथा उनके भाई बहुत खुश हैं, जिनके सामने अब रोजी-रोटी का संकट खत्म हो गया है।

इस सम्बंध में अनुज चन्देल ने बताया कि लॉक डाउन के चलते उनकी छिन चली गई थी, जिससे उनके परिवार के सामने रोजी-रोटी का संकट पैदा हो गया था। जिस पर उन्होंने आत्मनिर्भर भारत के तहत कुछ करने की सोची। जिसके चलते अपने भाईयों से मदद लेकर सबसे पहले मैगी पॉइंट खोला और धीरे-धीरे उसे रेस्टोरेंट में बदल दिया। जहाँ उनके दोनों भाई भी साथ मिलकर काम कर रहे हैं। उनके इस काम से प्रेरित होकर अन्य लोग भी इस व्यवसाय को करने की सोच रहे हैं, ताकि पहाड़ों से पलायन रुक सके और लोग अपने घर में ही रहते हुए आत्मनिर्भर बन सके। वहीं उन्होंने आत्मनिर्भर भारत के लिये प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की भी सराहना की, जिससे लोग बहुत ज़्यादा प्रेरित हो रहे हैं और खुद का व्यवसाय शुरू कर आत्मनिर्भर बन रहे हैं। साथ ही अनुज चन्देल ने कहा कि आज वह बहुत खुश हैं क्योंकि उनका व्यवसाय बहुत अच्छा चल रहा है, जिससे उनके परिवार के सामने रोजी रोटी का संकट भी खत्म हो गया है।

Related posts

बिग ब्रेकिंग!…..काशीपुर में पटरी से उतरा रेल इंजन!

kaalasach

देखिये…..कहाँ हुआ भीषण अग्नि कांड ! फिर क्या हुआ…..?

kaalasach

पढ़िये…..शहीद दिवस पर विशेष, 17 वर्ष बीत गये शहादत को पर नही मिल सका परिवार को कोई लाभ, सभी घोषणाएं हुई हवाई साबित।

kaalasach

ब्रेकिंग…..घर के बाहर खड़े युवक को अज्ञात लोगों ने मारी गोली

kaalasach

देखिये…..सीओ सिटी ने क्यों लिया सीएचसी का जायजा और फिर जो हुआ….!

kaalasach

देखिये…..कहाँ की युवक ने आत्महत्या

kaalasach

Leave a Comment